नागरिक को यूनिवर्सल मुफ्त वैक्सीनेशन दिलवाने की मांग

नागरिक को यूनिवर्सल मुफ्त वैक्सीनेशन दिलवाने की मांग

संवाददाता प्रदीप दुबे

गाजीपुर (वशिष्ठ वाणी): जिला एवं शहर कांग्रेस कमेटी की ओर से शुक्रवार को राष्ट्रपति को सम्बोधित पत्रक जिलाधिकारी के माध्यम से ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में प्रतिदिन एक करोड़ वैक्सीनेशन सुनिश्चित करने एवं भारत के प्रत्येक नागरिक को यूनिवर्सल मुफ्त वैक्सीनेशन दिलवाने की मांग की गई। कहां कि भाजपा सरकार कोरोना संक्रमण रोकथाम करने में बिल्कुल फेल रही है और अब वैक्सीनेशन में भी फेल हो गई है।

सम्बोधित ज्ञापन में कहा कि कोविड-19 संक्रमण के चलते आज देश में लगभग हर भारतीय परिवार को जनहानि के साथ अप्रत्याशित तबाही का सामना करना पड़ा है। दुख की बात है कि मोदी सरकार ने कोरोना वायरस की अपनी जिम्मेदारी से पल्ला झाड़ लिया है और लोगों को उनके हाल पर ही छोड़ दिया है। जिला अध्यक्ष सुनील राम ने कहा कि केंद्रीय नेतृत्व के निर्देश पर आज जिला कांग्रेस कमेटी द्वारा केंद्र की भाजपा सरकार की वैक्सीनेशन नीति के विरोध में आज राष्ट्रपति को सम्बोधित पत्रक दिया गया है।

केंद्र सरकार ने जानबूझ कर डिजिटल डिवाइड पैदा किया, जिससे वैक्सीनेशन की प्रक्रिया धीमी हो गई। सरकार द्वारा एक ही वैक्सीन के लिए अलग-अलग कीमतें तय की गई ताकि आम नागरिक से आपदा में लूट की जा सके। जन पटल पर मौजूद जानकारी के अनुसार मोदी सरकार व राज्य सरकारों ने 140 करोड़ की जनसंख्या के लिए आज तक केवल 39 करोड़ वैक्सीन खुराकों का आर्डर दिया है। अब तक मात्र 4.45 करोड़ भारतीयों को ही दूसरी खुराक वैक्सीनेशन की लगी है, जो भारत के आबादी का केवल 3.17 प्रतिशत है।

अगर इसी रफ्तार से वैक्सीनेशन होता रहा तो पूरे भारत के वयस्क नागरिकों को वैक्सीनेशन लगाने में 3 साल से भी ज्यादा का समय लगेगा। यदि यह ऐसे ही चलता रहा तो हम देश के नागरिकों को कोरोना वायरस की तीसरी लहर से कैसे बचा पाएंगे।

उपाध्यक्ष मंसूर जैदी शंटू ने कहा कि मोदी सरकार द्वारा वैक्सीन के लिए तय की गई अलग-अलग कीमतें लोगों की पीड़ा से मुनाफाखोरी का एक और उदाहरण है। प्रवक्ता अजय कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि हम राष्ट्रपति जी से निवेदन करते हैं

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *