बच्चो की सुरक्षा हमारी सबसे महत्वपूर्ण प्रथमिकता: जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा

बच्चो की सुरक्षा हमारी सबसे महत्वपूर्ण प्रथमिकता: जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा

महेश पाण्डेय ब्यूरो चीफ

वाराणसी (वशिष्ठ वाणी): जनपद वाराणसी में बच्चो की सुरक्षा व संरक्षण हेतु जिला बाल संरक्षण समिति/जनपद स्तरीय टास्क फोर्स की बैठक का आयोजन जिलाधिकारी कैंप कार्यालय में जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा की अध्यक्षता में किया गया। बैठक में सभी उपजिलाधिकारी, जिला विद्यालयनिरीक्षक, जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी, अपर मुख्य चिकित्सधिकारी, जिला कार्यक्रम अधिकारी, प्रभारी विशेष किशोर पुलिस इकाई, सभी खंड विकास अधिकारी, सभी बाल विकास परियोजना अधिकारी, किशोर न्याय बोर्ड के सदस्य, बाल कल्याण समिति के अध्यक्ष, श्रम विभाग के अधिकारी, जिला बाल संरक्षण इकाई तथा कोविड टास्क फोर्स के सभी सदस्य मौजूद रहे।

जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा उत्तर प्रदेश मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना की नियमावली के बारे में सभी को अवगत कराया गया कि इस योजना में किस तरह के बच्चो को आच्छादित किया जाना है इसकी पूरी जानकारी दी गई अभी तक जनपद वाराणसी में कुल 80 बच्चे चिन्हित हुए है जिसमे 3 बच्चे इस श्रेणी के पाए गए जिनमें माता तथा पिता दोनों की मृत्यू हो गई है बाकी अन्य 77 बच्चो में माता या पिता में से किसी एक की मृत्यू हुई है।

जिला प्रोबेशन अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया कि उत्तर प्रदेश मुख्य मंत्री बाल सेवा योजना में उन्ही बच्चो को सहायता दी जाएगी जिनके माता पिता की मृत्यू का कारण कोविड 19 हो तथा साक्ष्य अवश्य हो। इसके अतिरिक्त कुछ सूचना इस तरह की भी प्राप्त हुई जिनमें माता या पिता अथवा दोनों की मृत्यू तो हुई है परन्तु उनके कोई साक्ष्य नहीं है इस हेतु जिलाधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया कि जो बच्चे मुख्य मंत्री बाल सेवा योजना के तहत आते है उन्हे उसमे आच्छादित किया जाए अन्य बच्चो को स्पॉन्सरशिप योजना से जोड़ा जाए। सभी सरकारी प्राइवेट हॉस्पिटल में 1098 चाइल्ड लाइन, 181 हेल्प लाइन नंबर, जिला बाल संरक्षण इकाई से जिला प्रोबेशन अधिकारी प्रवीण त्रिपाठी का नंबर 7518024048 बाल संरक्षण अधिकारी निरुपमा सिंह का नंबर 8840830673 अंकित कराने हेतु निर्देशित किया गया, जिस से अगर कोई इस तरह का प्रकरण आता है तो तत्काल सूचना संबंधित विभाग को दी जा सके।

बाल संरक्षण अधिकारी द्वारा समिति को अवगत कराया कि कुल 193 बच्चे स्पॉन्सरशिप योजना के तरह चिन्हित किए गए है, जिनका प्रस्ताव अभी तक ग्राम तथा ब्लॉक स्तर से जिला बाल संरक्षण समिति को प्राप्त नहीं हुआ है, इस क्रम में जिलाधिकारी द्वारा सभी को खंड विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि तत्काल कार्यवाही करते हुए सूचना जिला स्तर पर उपलब्ध कराए।

कोबिड 19 की बीमारी से मृतक माता पिता के बच्चो का फार्म भरवाने तथा जिनके आय प्रमाण पत्र नहीं बने है उनका आय प्रमाणपत्र तत्काल जारी करने हेतु सभी उपजिलाधिकारी को निर्देशित किया गया।

ग्रामीण स्तर का फार्म ग्राम विकास अधिकारी ,ग्राम पंचायत अधिकारी द्वारा भरवाकर खंड विकास अधिकारी द्वारा सत्यापित करते हुए जिला प्रोबेशन अधिकारी को उपलब्ध कराया जाए तथा शहरी क्षेत्र में लेखपाल के माध्यम से फार्म भरवाकर उपजिलाधिकारी द्वारा सत्यापित कर उसे एक सप्ताह के अंदर जिला प्रोबेशन अधिकारी के कार्यालय में उपलब्ध कराया जाए।

सभी खड़ विकास अधिकारी को निर्देशित किया गया कि निगरानी समिति तथा ग्राम बाल संरक्षण समिति के माध्यम से कोरोना के कारण माता पिता अथवा दोनों को खो चुके बच्चो को चिन्हित करते हुए सूचना जिला प्रोबेशन कार्यालय को उपलब्ध कराए कोई भी बच्चा ऐसा वंचित नहीं रहना चाहिए जिसने माता पिता को खोया है और उनको मदद की जरूरत है, जिला प्रशासन वाराणसी इस तरह के बच्चो के मदद के उनके साथ है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *