परिसर प्रतिनिधि प्रथम विनय सोनकर द्वितीय परिसर प्रतिनिधि पद्मनाभम मिश्रा हुए निर्वाचित

परिसर प्रतिनिधि प्रथम विनय सोनकर द्वितीय परिसर प्रतिनिधि पद्मनाभम मिश्रा हुए निर्वाचित

संवाददाता कमलेश गुप्ता

रोहनिया: महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के डॉ. विभूति नारायण सिंह गंगापुर परिसर में रविवार को छात्रसंघ चुनाव के लिए मतदान हुआ। दो परिसर प्रतिनिधि के पद पर विनय सोनकर और पद्मनाभम मिश्रा ने कब्जा जमाया। रविवार को सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक हुई वोटिंग में 36.71फीसदी मत पड़े।

गंगापुर परिसर में चुनाव के दौरान प्रत्याशी और उनके समर्थकों द्वारा वोट मांगने का तरीका कुछ अलग ही नजर आया। मतदाताओं के पैर पकड़कर प्रत्याशी और उनके समर्थक वोट मांगते दिखाई दिए। छात्रसंघ चुनाव में छात्रों के उत्साह के आगे चुनाव आचार संहिता की जमकर धज्जियां उड़ाई गईं। प्रत्याशियों के समर्थक प्रिंटेड कार्ड, हैंडबिल व पैम्फलेट हवा में उड़ाते हुए नारेबाजी किये।

एमकॉम के निर्दल प्रत्याशी विनय सोनकर ने सर्वाधिक 901 वोट से जीत हासिल की तो बीकॉम द्वितीय वर्ष के अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के अधिकृत प्रत्याशी पद्मनाभम मिश्रा 552 वोट से विजेता रहे। अन्य एक समाजवादी पार्टी के अधिकृत प्रत्याशी राहुल यादव दूजा को 516 मत मिले।
सुबह आठ बजे से दोपहर दो बजे तक हुए मतदान में प्रत्याशियों ने मतदाताओं को रिझाने में कोई कसर नहीं छोड़ी। कोई मतदाताओं के पैर पर गिर गया तो किसी ने जमीन में लोटकर वोट मांगा। कमोवेश यही सिलसिला पूरे मतदान के दौरान देखने को मिला। कुल 4339 वोटराें में 1593 वोट पड़े।

इसमें छात्रों की संख्या 1100 रही तो 493 छात्राओ ने अपने मत का इस्तेमाल किया। 10 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाया तो 19 वोट अवैध पड़े। चुनाव अधिकारी प्रो. रंजन कुमार व परिसर के निदेशक प्रो योगेंद्र सिंह की देखरेख में मतदान हुआ। दोपहर तीन बजे के बाद मतगणना शुरू हुई। महज आधे घंटे से भी कम समय में परिणाम सामने था।

निर्वाचित दोनों प्रत्याशियों को महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ के कुलपति प्रोफेसर टी0 एन0 सिंह ने शपथ ग्रहण तथा प्रमाण पत्र देते साथ ही जीत की अग्रिम बधाई व शुभकामनाएं भी दिए। इस दौरान सह चुनाव अधिकारी अनिल कुमार चौधरी, निमिष गुप्ता, संदीप गिरी, विनोद सिंह, गोपाल प्रसाद, प्रोफेसर संजय, भावना शर्मा, सीओ सदर डॉ राकेश कुमार मिश्रा, रोहनिया थाना प्रभारी प्रवीण कुमार, न्यायिक तहसीलदार योगेंद्र सरन शाह, अधिशासी अधिकारी अजीत कुमार सिंह मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *