पंचायत चुनाव: काफिले के साथ प्रचार पड़ा भारी जाम मेंं फंसे

पंचायत चुनाव: काफिले के साथ प्रचार पड़ा भारी जाम मेंं फंसे

पुलिस अधीक्षक ने 9 गाड़ियों को किया सीज सभी चालकों को लिया हिरासत में

संवाददाता राकेश वर्मा

आजमगढ में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव के लिए आरक्षण की अंतिम सूची का प्रकाशन तो अभी बाकी है लेकिन अनंतिम को अंतिम मानकर दावेदारों ने प्रचार शुरू कर दिया है। कहीं वाहनों के काफिले के साथ प्रचार कर शक्ति प्रदर्शन किया जा रहा है तो कहीं वाहनों में प्रेशर हार्न लगाकर प्रचार किया जा रहा है। इस तरह का प्रचार तो लगभग सभी क्षेत्रों में किया जा रहा है। लेकिन रविवार को भदुली बाजार में काफिले के कारण लगे जाम में जब पुलिस कप्तान फंसे तो प्रचार भारी पड़ गया।

उन्होंने नौ गाड़ियों को को सिधारी थाने भेजवाकर सीज करा दिया। साथ ही पुलिस ने वाहन चालकों को हिरासत में ले लिया। चर्चा तो यह भी है कि उन्होंने प्रचार करने वाले की शारीरिक समीक्षा भी कर दी। सिधारी क्षेत्र थाना क्षेत्र के एक गांव की महिला जिला पंचायत सदस्य पद की दावेदार हैं और उनके प्रचार की कमान उनके पति ने संभाल ली है।

रविवार की दोपहर लगभग तीन बजे दर्जनों समर्थकों के साथ वाहनों का काफिला लेकर भदुली बाजार में चुनाव प्रचार कर रहे थे जिसके चलते बाजार की सड़क जाम हो गई थी। इस बीच उधर से गुजर रहे एसपी सुधीर कुमार सिंह की गाड़ी जाम में फंस गई। एसपी के साथ स्कोर्ट में लगे सिपाही अभी जाम खोलवाने का प्रयास करते कि तब तक एसपी स्वयं गाड़ी से नीचे उतर गए और पुलिस को कार्रवाई का आदेश दे दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *