उपजिलाधिकारी के नेतृत्व में चला भू-माफियाओं पर बुलडोजर

उपजिलाधिकारी के नेतृत्व में चला भू-माफियाओं पर बुलडोजर

उपजिलाधिकारी सदर ने मौके पर ही बांटी वरासत की खतौनी

महेश पाण्डेय ब्यूरो चीफ

वाराणसी: मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के उच्च प्राथमिकता वाले विषयों में से एक ग्रामीण क्षेत्रों में स्थित सार्वजनिक सम्पत्तियां जैसे कि तालाब (जलखाता), भीटा, चकमार्ग, खेल के मैदान, खलिहान, पंचायत भवन की जमीनें, ऊसर-बंजर भूमि, सरकारी विद्यालयों की जमीनें आदि अतिक्रमण मुक्त हो, भूमि विवाद शून्य हों। इसके लिए समय-समय पर शासन स्तर से निर्देश आते रहते हैं, इसके अलावा इस समय घरौनी और शत- प्रतिशत वरासत कराने का कार्य भी माननीय मुख्यमंत्री के उच्च प्राथमिकता वाले कार्यक्रमों में शामिल है जिसके लिए अभियान चला कर युद्ध स्तर पर कार्य करने हेतु अधिकारियों को निर्देशित किया गया है, इसी कड़ी में आज ग्राम नवापुरा में न्याय चला गांव की ओर “आपकी समस्या का समाधान आपके द्वार” अभियान की तर्ज पर उपजिलाधिकारी सदर प्रमोद कुमार पांडेय के नेतृत्व में चौपाल लगाकर संबंधित अधिकारियों ने ग्रामीणों की समस्यायों को सुना और यथासंभव मौके पर ही निस्तारण करने का भी प्रयास किया।

कुछ लाभार्थियों को मौके पर ही वरासत की खतौनी उपलब्ध कराई गई और जिन समस्याओं का समाधान मौके पर होना सम्भव नहीं था उसे अतिशीघ्र कराने के लिए संबंधित अधिकारियों और कर्मचारियों को निर्देशित किया गया। इसी कड़ी में ग्राम नवापुरा, नवापुरा (सथवां) में सार्वजनिक सम्पत्तियों पर हुए अतिक्रमण के विरुद्ध अभियान भी चलाया गया और ग्राम नवापुरा में एक तालाब को अतिक्रमण मुक्त कराया गया, इसके अलावा ग्राम नवापुरा (सथवां) स्थित सथवां पोखरा चौराहा पर भी सरकारी बुलडोजर गरजा और सार्वजनिक भीटे पर कब्जा कर बनाए गए कई कच्चे पक्के मकानों को ध्वस्त किया गया एवं एक तालाब को भी कब्जा मुक्त कराया गया गया, भीटे पर स्थित एक भूमाफिया के लकड़ी के टाल को भी शीघ्र खाली करने के लिए निर्देशित किया गया।

राजीव कुमार राजस्व निरीक्षक सारनाथ ने बताया कि माननीय उपजिलाधिकारी के नेतृत्व में अतिक्रमण हटाने के लिए टीम गठित हो गई है और यह अभियान निरन्तर तब तक चलता रहेगा जब तक कि पूरा क्षेत्र अतिक्रमण मुक्त न हो जाय।

चौपाल में उपजिलाधिकारी सदर प्रमोद कुमार पाण्डेय, खण्ड विकास अधिकारी चिरईगांव सुश्री मीनाक्षी पांडेय, राजीव कुमार राजस्व निरीक्षक सारनाथ, लेखपाल मनीष सिंह, उपेन्द्र सिंह, लल्लन सिंह यादव, शिव प्रताप आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *