फरवरी को प्रस्तुत देश के सर्वांगीण विकास के बजट 2021-2022 ,स्तरीय संगोष्ठी का आयोजन

फरवरी को प्रस्तुत देश के सर्वांगीण विकास के बजट 2021-2022 ,स्तरीय संगोष्ठी का आयोजन

संवाददाता प्रदीप दुबे

गाजीपुर: केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण द्वारा 1 फरवरी को प्रस्तुत देश के सर्वांगीण विकास के बजट 2021-2022 पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को धन्यवाद देने हेतु रविवार को भारतीय जनता पार्टी गाजीपुर द्वारा नगर के रायल पैलेस मे एक जनपद स्तरीय संगोष्ठी का आयोजन जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह की अध्यक्षता मे किया गया।

संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए मुख्य वक्ता उ प्र सरकार के समग्र ग्राम्य विकास एवं संसदीय कार्य राज्य मंत्री तथा जिले के प्रभारी मंत्री आनन्द स्वरूप शुक्ल ने कहा की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सरकार ने वैश्विक महामारी मे भारत को सुरक्षित रखते हुए आर्थिक प्रगति को प्रभावित नहीं होने दिया है। उन्होंने कहा की प्रधानमंत्री जी के जीवन का हर क्षण,हर पल एवं रक्त की एक एक बूंद देश को समर्पित है।और उनके नेतृत्व मे राष्ट्र लगातार विश्वगुरू बनने की ओर अग्रसर है जिस तरह का भाव उन्होंने देश के वैज्ञानिकों, चिकित्सकों तथा स्वास्थ्य सेवा कर्मियों मे जगाया है, कोरोना वैक्सीन का जो निर्माण आविष्कार किया है उसे दुनिया ने माना है।

उन्होंने कहा की कोरोना काल मे मनरेगा मनरेगा रोजगार की संजीवनी अवसर बना तथा इस बजट मे आधारभूत ढांचे की मजबूती के साथ साथ कृषि, रक्षा, स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार के क्षेत्रों मे बजट के लिए अपार संभावनाएं है और इसके लिए सरकार समेकित प्रयास कर रही है।उन्होंने कहा की पर्यावरण व हवा शुद्ध रहे इसके लिए सरकार ने देश के 42 बडे शहरों जहाँ की आबादी 10 लाख से ज्यादा है, वहाँ पर्यावरण उन्मुलन के प्रति निष्ठा दिखाई है।

शिक्षा के क्षेत्र मे अनुसूचित जनजाति के छात्रों के लिए प्रदेश के चार जगहों श्रावस्ती, सोनभद्र, बिजनौर और लखनऊ मे एकलव्य विद्यालय खोलने का निर्णय लिया है जहाँ वे सहशिक्षार्थी के रूप मे रहेंगे। उन्होंने कहा की किसानों की आय 2022 तक दोगुनी हो इस लक्ष्य के लिए सरकार सरकार चाहती है कृषि एवं उसके सह उद्यम को बढावा मिले।उन्होंने कहा की मतस्य क्षेत्र मे भारत निर्यातक देशों मे दूसरे नम्बर पर है।उन्होंने कहा की देश कृषि एवं खाद्यान्न मे आत्मनिर्भर हो उसके लिए सरकार ने 2014 से लगातार एमएसपी मे वृद्धि जारी रखते हुए आनाजों की रिकॉर्ड खरीदारी की है।

उन्होंने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्र के घाटे में चल रहे संस्थानों को बंद करने तथा क्षनीजी क्षेत्र मे देने पर उन्होंने कहा की इन्हें अगर लगातार चालू रखा गया तो राजकोषीय घाटा लगातार बढ़ता रहेगा सरकार उस राजकोषीय घाटे को बढ़ने से रोकेगी तथा स्वामित्व योजना के माध्यम से छोटी छोटी कंपनियों को सरकार प्रोत्साहित कर रही है ।जिससे स्वामित्व के साथ हर क्षेत्र में काम करने के लिए लोग आगे आएं। उन्होंने कहा कि डिजिटल जनगणना के लिए बजट में 3728 करोड़ रूपया रखा गया है। बजट पर विपक्षी दलों के लोगों के प्रतिक्रिया की चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि विपक्ष के नेता बिना देखे पहले से टाइप बयान को अपनी प्रतिक्रिया बता कर जारी कर देते हैं और आज विपक्ष पूर्वाग्रह से ग्रसित प्रधानमंत्री जी के विकास गति से भ्रमित होकर कुंठा ग्रस्त, हताश है।

स्पष्ट रूप से उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तुत यह बजट भारत के लिए संवेदनशील समेकित बजट है। संगोष्ठी को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष भानुप्रताप सिंह ने कहा की देश के विकास को मजबूती तथा जन जन के जीवन को समृद्धि प्रदान करने वाला यह बजट भारत के बुनियादी ढांचे को मजबूत करेगा। सबके प्रति आभार क्षेत्रीय उपाध्यक्ष सरोज कुशवाहा ने व्यक्त किया।

संगोष्ठी का शुभारंभ मुख्य अतिथि द्वारा पं दीनदयाल उपाध्याय एवं डा श्यामा प्रसाद मुखर्जी के चित्र के समक्ष दीप प्रज्वलित कर हुआ।
संगोष्ठी मे कृष्ण बिहारी राय, विजेंद्र राय, प्रभुनाथ चौहान, सरिता अग्रवाल, राजेश भारद्वाज, ओमप्रकाश राय, प्रवीण सिंह, दयाशंकर पांडेय, जितेन्द्र नाथ पांडेय, नरेन्द्र सिंह, रामनरेश कुशवाहा, अखिलेश सिंह, अच्छेलाल गुप्ता, योगेश सिंह, जिलामीडिया प्रभारी शशिकान्त शर्मा, सरोज मिश्रा, रुद्रा पांडेय, शीला सोनकर, सुमित तिवारी, श्यामनरायन राम,अनुज अकेला, पूनम, सरोज भारती, निर्मला पाठक, नीलम सिंह, किरन, गुड्डी, सुरेश बिंद, हरदेव कुशवाहा, अजीत सिंह, सहित आदि अन्य लोग उपस्थित रहे। संचालन विनोद अग्रवाल ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *