Breaking News: नेता अनिल उरांव की हत्या

Breaking News: नेता अनिल उरांव की हत्या

बिहार: पूर्णिया में बिहार के पूर्णिया से तीन दिन पहले अगवा एलजेपी नेता अनिल उरांव (LJP leader Anil Oraon) की हत्या कर दी गई है। गुरुवार को शहर के सर्किट हाउस से अनिल उरांव का अपहरण कर लिया गया था। अपहरणकर्ताओं ने उनके परिवारों से 10 लाख रुपये की फिरौती भी ली, इसके बावजूद लोजपा आदिवासी सेल के प्रदेश अध्यक्ष की निर्मम हत्या कर दी गई। आक्रोशित लोगों ने शहर के सभी मुख्य मार्गों पर जाम लगा दिया है। गुस्साए लोगों ने पुलिस की गाड़ी में भी तोड़फोड़ की और आसपास की दुकानों को बंद करने के लिए मजबूर किया।

Click Now: ASSEMBLY Election Results 2021 Updates

कटिहार के मनिहारी विधानसभा से लोजपा के आदिवासी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष अनिल उरांव का गुरुवार को पूर्णिया के खजांची हाट थाना क्षेत्र के आईजी आवास के बगल सर्किट हाउस के पास से अपहरण कर लिया गया। रविवार को पुलिस ने के नगर थाने के डांगरहा से आदिवासी नेता अनिल उरांव का शव बरामद किया। अनिल उरांव की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई और शव को डूंगरहा के पास फेंक दिया गया।

पुलिस शव को बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए पूर्णिया ले आई। जब उनके परिवार के सदस्य और समर्थक मौके पर पहुंचे, तो वे बहुत क्रोधित हुए। समर्थक शव को लेकर आरएनएसव चौक पहुंचे। आरएनएसव चौक सहित शहर के सभी चौक चौराहों पर लोगों ने सड़क जाम कर दिया है। अनिल उरांव के साथी शंकर ब्रह्मचारी ने कहा कि पुलिस की लापरवाही के कारण ऐसी घटना हुई है। अपहरणकर्ताओं ने 10 लाख रुपये की फिरौती भी ली, उसके बाद भी उसकी हत्या कर दी गई।

उन्होंने कहा कि जिस दिन अनिल उरांव का अपहरण हुआ था, उसी दिन उनकी हत्या कर दी गई थी। वे हत्यारे को सामने लाने के लिए प्रशासन से मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि अगर पुलिस समय रहते सतर्क हो जाती तो शायद अनिल उरांव को बचाया जा सकता था। उन्होंने थाना प्रभारी के खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग की है।

घटना की जानकारी मिलते ही लोजपा के राष्ट्रीय महासचिव शंकर झा बाबा भी आरएन साव चौक पहुंचे। उन्होंने परिवार के सदस्यों से मुलाकात की और उन्हें सांत्वना दी। शंकर झा ने कहा कि अनिल उरांव की जमीन पर हत्या कर दी गई है। उन्होंने कहा कि वे कल भी एसपी से मिले थे और एसपी ने आश्वासन दिया था। लेकिन पुलिस अनिल उरांव को नहीं बचा सकी। उन्होंने कहा कि इस मामले में दो लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। उसकी निशानदेही पर शव बरामद कर लिया गया है।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है और एक महिला को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। पकड़े गए दोनों आरोपियों से पूछताछ के बाद उनकी निशानदेही पर ही शव बरामद किया गया है। फिलहाल घटना के पीछे के कारण की जांच की जा रही है। घटना के पीछे अनिल उरांव के एक महिला से संबंध होने की बात भी कही जा रही है। लेकिन जांच भी की जा रही है, अनिल उरांव जमीन खरीदने और बेचने का काम करता था, वर्तमान में, पुलिस सभी कोणों पर जांच कर रही है।

मात्र 100 रुपये में आप एक वर्ष के लिए ईपेपर वशिष्ठ वाणी दैनिक समाचार पत्र को सब्सक्राइब करें और अपने व्हाट्सएप्प और ईमेल आईडी पर एक वर्ष तक निःशुल्क ईपेपर प्राप्त कर पूरे दुनिया की समाचार पढ़े, और साथ ही एक वर्ष तक अपने विज्ञापन को निःशुल्क प्रकाशित भी करवायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *