किडनी की बीमारी से जूझ रहे बच्चो के लिए किया रक्तदान

किडनी की बीमारी से जूझ रहे बच्चो के लिए किया रक्तदान

रिपोर्टर: प्रदीप दुबे

गाजीपुर: यदि आप किसी से खून का रिश्ता न होते हुए भी जरूरत पड़ने पर उसे अपना और दूसरों से खून दिलाकर उसकी जान बचाने का कार्य कर रहे हैं तो दुनिया में इससे बड़ी कोई नेकी नहीं है। कुछ ऐसा ही कार्य वर्षों से करते आ रहे हैं नगर के कचहरी निवासी कुंवर विरेंद्र सिंह किसी को जरूरत पड़ने पर खुद रक्तदान करने के साथ ही अपने मित्रों से भी यह नेकी कराकर लोगों को जीवनदान देने का कार्य कर रहे हैं।

इसी क्रम में उन्होंने अपने मित्र विश्वजीत सिंह से किडनी की बीमारी से जूझ रहे बच्चे के लिए रक्तदान कराया।मालूम हो कि मलसा निवासी 14 वर्षीय अरमान की दोनों किडनी फेल है। धनवंतरी अस्पताल में डायलिसिस का पेशेंट है। बच्चे के सिर से बचपन में ही मां का साया उठ गया था। उसे ए पॉजिटिव ब्लड की आवश्यकता थी।

पिता ब्लड के परेशान होते हुए इधर-उधर भाग-दौड़ कर रहा था, लेकिन खून का इंतजाम नहीं हो पा रहा था। इससे पिता बेटे के जीवन की सलामती को लेकर भयभीत था। इसी बीच डायलिसिस इंचार्ज दिनेश सागर ने बच्चे के पिता को कचहरी निवासी समाजसेवी कुंवर विरेंद्र सिंह का मोबाइल देते हुए उनसे संर्पक करने को कहा।

इस पर पिता ने संर्पक कर श्री सिंह से अपनी तकलीफ बताई। विरेंद्र ने ब्लड दिलाने का भरोसा दिलाते हुए फेसबुक पर ब्लड के लिए पोस्ट डाला। इसके साथ ही अपने मित्रों को भी मैसेज डाला। मित्र विश्वजीत सिंह, जिनका ब्लक ग्रुप (ए.पॉजिटिव) है, खून देने के लिए तैयार हो गए। फिर मित्र अनुभव राय ने फोन कर रक्तदान की बात कही।

उसी बीच आशीष राय ने भी अपने आई.डी. से ब्लड के लिए पोस्ट लगा दिया और फेसबुक दोस्त रजत गुप्ता ने भी मैसेज किया कि कभी भी खून की आवश्यकता हो तो हमें जरूर याद कीजिए। इसके बाद विरेंद्र सिंह ने अरमान के पिता को अस्पताल बुला लिया। कुछ देर में विश्वजीत सिंह भी वहां पहुंच गए और रक्तदान किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *