(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
Mon. Apr 15th, 2024

बीजेपी को मिला 720 करोड़ का चंदा, जानें कांग्रेस समेत अन्य पार्टियों को कितना?

Political Party FundingPolitical Party Funding

Political Party Funding: लोकसभा चुनाव 2024 से पहले एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स यानी ADR की एक रिपोर्ट आई है. दावा किया गया है कि पिछले वित्तीय वर्ष यानी 2022-23 में 719 करोड़ रुपये का चंदा मिला है. भाजपा को मिला फंड देश की सबसे पुरानी पार्टी कांग्रेस समेत अन्य राजनीतिक पार्टियों से कही ज्यादा है.

लोकसभा चुनाव 2024 से पहले ADR की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि 2022-23 के दौरान भारतीय जनता पार्टी यानी BJP को सबसे ज्यादा चंदा मिला है. भाजपा राजनीतिक चंदा प्राप्त करने के मामले में सबसे आगे है. रिपोर्ट के मुताबिक, पिछले वित्तीय वर्ष में भाजपा को 719 करोड़ का चंदा यानी डोनेशन मिला है. वहीं, कांग्रेस, सपा, बसपा, आम आदमी पार्टी, एनसीपी, वाम दल और तृणमूल कांग्रेस को भाजपा के मुकाबले काफी कम डोनेशन मिला है.

देश की राजनीतिक पार्टियों में आम आदमी पार्टी (AAP), भारतीय जनता पार्टी (BJP), भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस (INC), बहुजन समाज पार्टी (BSP), भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी-मार्क्सवादी (CPI-M), नेशनल पीपल्स पार्टी (AAP) शामिल हैं. रिपोर्ट के मुताबिक, देश के चुनाव आयोग की ओर से घोषित राष्ट्रीय राजनीतिक दलों को अगर 20 हजार रुपये से ज्यादा का चंदा मिलता है, तो पार्टी को भी इसकी घोषणा करनी होती है कि उन्हें कितना डोनेशन मिला है. 

डोनेशन के मामले में कौन सी पार्टी किस नंबर पर?

डोनेशन के मामले में वित्तीय वर्ष 2022-23 में सबसे ऊपर भाजपा है. भाजपा को कुल 719.08 करोड़ रुपये का डोनेशन मिला है. दूसरे नंबर पर कांग्रेस है, जिसे 79.92 करोड़ रुपये का चंदा मिला है. सबसे आखिर में बहुजन समाज पार्टी यानी BSP को 20 हजार रुपये से अधिक का चंदा नहीं मिला है. 

देश के किस राज्य से किसे मिला कितना चंदा?

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली से देश की सभी छह राष्ट्रीय पार्टियों को कुल 276 करोड़ रुपये से ज्यादा का चंदा मिला.

गुजरात से सभी राष्ट्रीय पार्टियों को 160.509 करोड़ रुपये का डोनेशन मिला.

महाराष्ट्र से सभी राष्ट्रीय स्तर की राजनीतिक पार्टियों को 96.273 करोड़ रुपये का चंदा मिला.

ADR की रिपोर्ट के मुताबिक, वित्तीय वर्ष 2022-23 के दौरान मिला चंदा पिछली बार से 91 करोड़ रुपये से ज्यादा यानी वित्तीय वर्ष 2021-22 से 12.09 फीसदी ज्यादा है. 

वित्तीय वर्ष 2021-22 में भाजपा को 614 करोड़ रुपये से ज्यादा चंदा मिला था. पिछले वित्तीय वर्ष यानी 2022-23 में भाजपा को 719 से ज्यादा का चंदा मिला है, जो 2021-22 के मुकाबले 17.12 फीसदी ज्यादा है. वहीं, वित्तीय वर्ष 2021-22 के दौरान कांग्रेस पार्टी को 95.459 करोड़ रुपये का डोनेशन मिला था, जो वित्तीय वर्ष 2022-23 में घटकर 79.9 करोड़ पर आ गया है.

कांग्रेस के अलावा, आम आदमी पार्टी और सीपीआई-एम को भी पिछले वित्तीय वर्ष की तुलना में कम डोनेशन मिला है. सीपीआई (एम) को वित्तीय वर्ष 2022-23 में जो डोनेशन मिला है, वो पिछली बार के मुकाबले 39.56 फीसदी यानी 3 करोड़ रुपये कम है. वहीं, आम आदमी पार्टी को भी मिला डोनेशन पिछले वित्तीय वर्ष के मुकाबले इस बार 2.99 फीसदी यानी 1 करोड़ रुपये से अधिक कम है.

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *