Sat. Feb 24th, 2024

बिलकिस बानो केस के दोषियों ने सरेंडर के लिए मांगी मोहलत, आज होगी सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई

Bilkis Bano case

Bilkis Bano Case: बिलकिस बानो के दोषियों की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होगी. 2002 गुजरात दंगों के दौरान बिलकीस बानो से सामूहिक दुष्कर्म करने वाले 11 में से नौ दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर आत्मसमर्पण के लिए और वक्त दिये जाने का अनुरोध किया है.

बिलकिस बानो के दोषियों की याचिका पर सुप्रीम कोर्ट में आज सुनवाई होगी. 2002 गुजरात दंगों के दौरान बिलकीस बानो से सामूहिक दुष्कर्म करने वाले 11 में से नौ दोषियों ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल कर आत्मसमर्पण के लिए और वक्त दिये जाने का अनुरोध किया है. 

11 दोषियों को माफी के आधार पर रिहाई 

दरअसल गुजरात सरकार की ओर से 11 दोषियों को माफी के आधार पर समय से पहले रिहाई करते हुए इनको जेल से रिहा कर दिया था. इसके खिलाफ दाखिल याचिका पर सुनवाई करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने रिहाई के फैसले को रद्द करते हुए इन दोषियों को दो हफ्ते में जेल में सरेंडर करने का आदेश दिया था.

सुप्रीम कोर्ट ने गुजरात हाई कोर्ट को लगाया फटकार 

सुप्रीम कोर्ट के आदेश के दौरान गुजरात हाई कोर्ट को फटकार भी लगाई और कहा कि आपको इस मामले में दोषियों को रिहा करने का कोई अधिकार नहीं है. उधर, बिलकिस ने फैसले के बाद कहा कि मेरी आंखों में आंसू हैं, ये आंसू खुशी के हैं. उन्होंने कहा कि ये डेढ़ साल में पहली बार है, जब मेरे चेहरे पर मुस्कान आई है. कोर्ट के इस फैसले के बाद मेरा न्याय पर भरोसा बढ़ गया. बिलकिस बानो ने फैसले के बाद अपनी वकील, दोस्त, पति और हर उस शख्स का शुक्रिया अदा किया, जिसने मुश्किल घड़ी में उनका साथ दिया.

जानें क्या है पूरा मामला? 

दरअसल साल 2002 में गुजरात में गोधरा स्टेशन पर साबरमती एक्सप्रेस के कोच को जला दिया गया था. इसके बाद गुजरात में दंगे फैल गए थे. इन दंगों की चपेट में बिलकिस बानो का परिवार भी आ गया था. मार्च 2002 में भीड़ ने बिलकिस बानो के साथ रेप किया था. तब बिलकिस 5 महीने की गर्भवती थीं. इतना ही नहीं भीड़ ने उनके परिवार के 7 सदस्यों की हत्या भी कर दी थी. 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *