(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});
Mon. Apr 15th, 2024

मोदी सरकारने उज्जवला योजना के लाभार्थियों के लिए बड़ा ऐलान, जानें कितने रुपए में मिलेगा सिलेंडर

उज्जवला योजना

Pradhan Mantri Ujjwala Yojana: केंद्र की मोदी सरकार ने उज्जवला योजना के लाभार्थियों को बड़ी खुशखबरी दी है. सरकार ने उज्जवला योजना के लाभार्थियों को दी जा रही सब्सिडी को अगले एक साल तक के लिए बढ़ा दिया है.

लोकसभा चुनाव से ठीक पहले मोदी कैबिनेट की बैठक में उज्जवला योजना के लाभार्थी के लिए एक बड़ा ऐलान किया गया है. केंद्र सरकार ने उज्जवला योजना के लाभार्थी को दी जा रही सब्सिडी को अगले एक साल तक के लिए बढ़ा दिया है. मोदी सरकार के इस फैसले के बाद पीएम उज्जवला योजना के लाभार्थियों को 31 मार्च 2025 तक एलपीजी सिलेंडर पर सब्सिडी मिलती रहेगी. मोदी कैबिनेट की बैठक में सरकार ने यह फैसला लिया है.

सरकार के फैसले के बारे में जानकारी देते हुए वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि उज्जवला योजना के लाभार्थियों को प्रति सिलेंडर 300 रुपए की मिलने वाली सब्सिडी को अगले एक साल तक यानी 31 मार्च 2025 तक बढ़ाने का फैसला लिया गया है. पीयूष गोयल ने आगे कहा कि उज्जवला योजना के लाभार्थियों को अगले एक साल तक सब्सिडी दिए जाने के चलते केंद्र सरकार पर 12 हजार करोड़ का अतिरिक्त भार आएगा.

31 मार्च 2025 तक मिलेगी सब्सिडी

बता दें, इससे पहले केंद्र की मोदी सरकार ने साल 2023 में 29 अगस्त को उज्जवला योजना के लाभार्थियों को महंगे एलपीजी से राहत देते हुए एलपीजी सिलेंडर पर सब्सिडी देने का फैसला किया था. सरकार की ओर से किए गए इस ऐलान की मियाद 31 मार्च 2024 को खत्म हो रही थी. इसी बीच मोदी सरकार ने अपने दूसरे कार्यकाल के आखिरी कैबिनेट बैठक में उज्जवला योजना के लाभार्थियों को एलपीजी सिलेंडर पर सब्सिडी देने के फैसले को 31 मार्च 2025 तक के लिए बढ़ा दिया है.

कितने रुपए में मिलेगा सिलेंडर?

एलपीजी गैस सिलेंडर के लिए आम ग्राहकों को 903 रुपए का भुगतान करना होता है. वहीं प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के लाभार्थियों को प्रति सिलेंडर पर सरकार की ओर से 300 रुपए की सब्सिडी दी जाती है. सरकार से मिलने वाली सब्सिडी की राशि को अगर हम हटा दें तो उज्जवला योजना के लाभार्थी 603 रुपए में एलपीजी रिफिल करा सकते हैं. 

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *