पश्चिम बंगाल चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवारों की जमानत जब्त

पश्चिम बंगाल चुनाव में कांग्रेस उम्मीदवारों की जमानत जब्त

Epaper Vashishtha Vani

कोलकाता। पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनावों में इस बार ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) की पार्टी टीएमसी (TMC) को भारी जीत मिली। राज्य की 292 सीटों में से, पार्टी ने 213 सीटें जीतीं, दूसरी ओर, बंगाल में, तीसरा मोर्चा इस बार बुरी तरह से विफल रहा। स्थिति यह थी कि 85 फीसदी उम्मीदवार अपनी जमानत भी नहीं बचा सके थे। यहां तक ​​कि जिन दो सीटों पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी (Rahul Gandhi) ने रैली की, वहां पार्टी को हार का सामना करना पड़ा। तीसरे मोर्चे के पतन का सीधा फायदा ममता बनर्जी की पार्टी को हुआ।

इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के आकलन के अनुसार, तीसरे मोर्चे के 292 उम्मीदवारों में से केवल 42 ही अपनी जमानत बचा पाए। यह ज्ञात है कि अगर किसी उम्मीदवार को एक सीट में 16.5% से कम सीटें मिलती हैं, तो उसकी जमानत जब्त हो जाती है। इस चुनाव में वाम और कांग्रेस दोनों को एक भी सीट नहीं मिली, जबकि भारतीय सेक्युलर मोर्चा को केवल एक सीट मिली। इस चुनाव में कांग्रेस के लिए सबसे शर्मनाक बात यह थी कि यह मतिगरा-नक्सलबाड़ी और गोलपोखर में बुरी तरह से हार गई, दोनों 14 अप्रैल को कांग्रेस नेता राहुल गांधी के कब्जे में थे।

इन दोनों सीटों पर खड़े कांग्रेस उम्मीदवार अपनी जमानत नहीं बचा सके। ज्ञात हो कि माटीगारा-नक्सलबाड़ी सीट एक दशक से कांग्रेस के कब्जे में थी। इस बार इस सीट से तीसरी बार चुनाव लड़ रहे कांग्रेस विधायक शंकर मालाकार को इस बार केवल 9% वोट मिले। इसी तरह, गोपालपोखर में कांग्रेस को 12% मतों से संतोष करना पड़ा। यह सीट कांग्रेस द्वारा 2006-2009, 2011-2016 तक आयोजित की गई थी।

अगर हम तीसरे मोर्चे के गठबंधन दलों के बारे में बात करते हैं, तो वाम दल 170 में से 21 सीटों पर, 90 में से 11 सीटों पर कांग्रेस और 30 में से 10 सीटों पर आईएसएफ से बच सकते हैं। आईएसएफ तीनों में सबसे अच्छा प्रदर्शन था। आईएसएफ ने भाजपा को हरोरा, बशीरहाट उत्तर, देगंगा और कैनिंग पूर्व में तीसरे स्थान पर धकेल दिया। यानि थर्ड फ्रंट में शामिल हुए फुरफुरा शरीफ के मौलवी अब्बास सिद्दीकी की पार्टी ने तीनों में बेहतरीन प्रदर्शन किया।

मात्र 100 रुपये में आप एक वर्ष के लिए ईपेपर वशिष्ठ वाणी दैनिक समाचार पत्र को सब्सक्राइब करें और अपने व्हाट्सएप्प और ईमेल आईडी पर एक वर्ष तक निःशुल्क ईपेपर प्राप्त कर पूरे दुनिया की समाचार पढ़े, और साथ ही एक वर्ष तक अपने विज्ञापन को निःशुल्क प्रकाशित भी करवायें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *