आजमगढ़ जिलाधिकारी के आदेश की उड़ाई जा रही है धज्जियां

आजमगढ़ जिलाधिकारी के आदेश की उड़ाई जा रही है धज्जियां

शराब के ठेके पर उमड़ी भीड़ नहीं हो रहा है कोविड-19 के दिशा निर्देशों का पालन

संवाददाता:-राकेश वर्मा

आजमगढ़ में यह जो दृश्य आप देख रहे हैं किसी मतदान का नहीं है और ना ही राशन वितरण या अन्य सरकारी योजनाओं के लिए यह लोग लाइन में लगे हुए हैं। सैकड़ों की संख्या में बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते हैं यह लोग अपनी तड़प मिटाने के लिए लाइन में लगे हुए हैं दर असल यह सभी शराब के शौकीन हैं। पंचायत उपचुनाव में को देखते हुए 10 जून शाम 5:00 बजे से 12 जून को पंचायत चुनाव शाम 5:00 बजे तक संपन्न होने तक जिले की सभी शराब की दुकानों को प्रशासन ने बंद कराया था। जैसे ही घड़ी ने पांच बजाए देसी शराब के ठेकेदार ने शराब की दुकान खोल दी और उसके बाद तो को लाइन शुरू हुई वह खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही थी। शहर कोतवाली के मोहल्ला फराश टोला में स्थित इस देशी शराब के ठेके पर शराब खरीदने वालों की भारी भीड़ जमा हो गई भीड़ इतनी ज्यादा थी कि रास्ता जाम हो गया और ताज्जुब तो इस बात का है कि ना आबकारी विभाग को खबर लगी और ना ही ठेके से चंद कदम की दूरी चौक पर रहने वाली पुलिस को। एक तरफ तो सरकार ने कोरोना महामारी को नियंत्रित करने के लिए तमाम गाइडलाइन जारी की है लेकिन सरकार की अर्थव्यवस्था की रीढ़ जाने वाले शराब के शौकीनों के लिए लगता है कि कोई नियम नहीं बना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *