एएनएम पिंकी ने घर पर रहकर कोरोना को दी मात

एएनएम पिंकी ने घर पर रहकर कोरोना को दी मात

गांवों में कोरोना जांच और टीकाकरण पर दे रहीं ज़ोर
  • संवाददता प्रदीप दुबे

गाजीपुर: कोविड-19 से बचाव के लिए सरकार का टीकाकरण पर खासा ज़ोर है। इसे सफल बनाने में जुटीं हैं- स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत एएनएम | स्वास्थ्य केंद्रों पर टीकाकरण के साथ ही गांव-गांव पहुंचकर लोगों को टीकाकरण के प्रति जागरूक भी कर रहीं हैं। ऐसे में हम सभी की जिम्मेदारी बन जाती है कि समय – समय पर इन कोरोना वारियर्स का हौसला अफजाई करते रहें।

इससे उन्हें और अधिक उत्साह व ऊर्जा मिलेगी और वह अपने कर्म पथ पर अडिग रहकर अधिक से अधिक लोगों का टीकाकरण कर सकेंगी | ऐसी ही एक एएनएम पिंकी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मोहमदाबाद के उपकेंद्र चकपहाड़ पर कार्यरत हैं, जो कुछ दिनों पहले कोरोना पॉजिटिव हुई, फिर भी होम आइसोलेशन में रहकर विभागीय कार्यों को पूरा कर अपने कर्तव्य का निर्वहन करती रहीं।

पिंकी बताती हैं कि उनकी नियुक्ति 8 अप्रैल 2019 को उपकेंद्र चकपहाड़ पर हुई थी जिसके बाद वह नियमित रूप से केंद्र पर टीकाकरण कार्य के साथ ही विभाग द्वारा दी जाने वाली जिम्मेदारियों को भी हमेशा निभाती रहीं। पिछले साल भी कोविड-19 के दौरान उन्होंने अपने कर्तव्य का निर्वहन किया । इस साल भी वह कर्तव्य का निर्वहन कर रही थीं, लेकिन इसी बीच 28 अप्रैल को वह पॉजिटिव हो गईं जिसके बाद उन्होंने होम आइसोलेशन में उपचार शुरू किया।

इस दौरान भी वर्क फ्रॉम होम करते हुए फोन के जरिए पॉजिटिव मरीजों का फॉलोअप लेती रहीं। इसके साथ ही आशा कार्यकर्ताओं द्वारा गांव-गांव किए जाने वाले सर्वे कार्य पर भी नजर बनाये हुए थीं । हालांकि इस दौरान लोगों के नकारात्मक व्यवहार का भी सामना करना पड़ा । फिर भी वह इससे विचलित नहीं हुईं और सकारात्मक सोच रखते हुये अपना कर्तव्य करती रहीं।

इस दौरान परिवार के लोग नियमित रूप से काढ़ा और दवा लेने के लिए फोन कर याद दिलाते रहे। जिससे वह समय से होम आइसोलेशन में रहकर भी स्वस्थ हुई ।14 मई को उन्होने फिर से जांच कराई तो उसमें वह निगेटिव आई थीं । इसके बाद 19 मई को फिर से विभागीय ड्यूटी शुरू कर दी ।

उन्होंने बताया कि होम आइसोलेशन के फॉलो अप के दौरान आमजन को फोन करने पर अधिकतर लोगों के द्वारा नकारात्मक व्यवहार देखा गया । कोई ठीक से बात नहीं करता था। फिर भी लोगों को होम आइसोलेशन के दौरान बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में बताती रहीं। जब जिलाधिकारी के निर्देश पर कोविड-19 टीकाकरण गांव-गांव शुरू हुआ तो एएनएम ने कई गांवों में जाकर टीकाकरण किया ।

उन्होंने बताया कि इस दौरान मुर्की खुर्द और मुर्की कला के लोग अपना कोविड-19 जांच और टीकाकरण नहीं कराना चाह रहे थे। तब इनके और उनकी टीम के द्वारा वहां के लोगों को समझाया गया और उन्हें टीकाकरण के फायदे के बारे में बताया गया । तब 100 से ऊपर लोगों ने अपनी जांच कराई और लगभग 50 लोगों ने अपना टीकाकरण कराया।

चिकित्सा अधीक्षक डॉ आशीष राय ने बताया कि चकपहाड़ स्वास्थ्य केंद्र के अंतर्गत आने वाले सभी कर्मचारी कोविड-19 पॉजिटिव हो चुके थे, उन सभी को होम आईसोलेशन के दौरान विभाग द्वारा पूरा सहयोग किया गया और उनका हौसला अफजाई भी किया जाता रहा। इस वजह से जितने भी कर्मचारी पॉजिटिव हुए थे, वह अब निगेटिव और स्वस्थ होकर अपने काम पर लौट चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *