पशु आरोग्य मेला एवं गोष्ठी का आयोजन

पशु आरोग्य मेला एवं गोष्ठी का आयोजन

संवाददाता प्रदीप दुबे

गाजीपुर: उत्तर प्रदेश सरकार के भरपूर उपलब्धियों से चार वर्ष पुर्ण होने पर पशुपालन विभाग, विकास खंड सदर के द्वारा प्राथमिक विद्यालय, बीकापुर पर पं दीनदयाल उपाध्याय पशु आरोग्य मेला एवं गोष्ठी का आयोजन ग्राम प्रधान चम्पा देवी की अध्यक्षता मे आयोजित किया गया। गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि वक्ता भाजपा प्रदेश कार्यसमिति सदस्य कृष्ण बिहारी राय ने कहा की ग्रामीण जीवन मे आजिविका एवं अर्थव्यवस्था का मुख्य स्रोत और आधार पशु है।

उन्होंने अपने अपने भावनात्मक उदबोधन मे कहा की काल चक्र एवं मनुष्य जीवन की बदलती परिस्थितियों का परिणाम है की अर्थ एवं श्रम का मुख्य स्रोत पालतू पशुओं को लोग आवारा पशु का नाम दे रहे है। परन्तु आज वह निराश्रित पशु आवारा नहीं बल्कि असहाय है। और उन्हें उस हाल मे क्यों छोडा जा रहा है, जिस गौ माता के दूध को 50 रु लीटर बेचकर हम अपने परिवार तथा बच्चों का पालन पोषण कर रहे है। लेकिन उसी अर्थ स्रोत गौ माता के बच्चे को हम आवारा कह रहे है यह सोचनीय है। सच यही है वह आवारा नहीं निराश्रित है, यह सिर्फ समय और परिस्थितियों का तकाजा है । उन निराश्रित पशुओं के पोषण हेतु सरकार ने उत्तम व्यवस्था दी है।

इस परिस्थितियों के परिणाम स्वरूप मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी की सरकार ने ऐसे सिमेन का अनुसंधान किया है जिससे सिर्फ हमारी आवश्यक्ता अनुरूप गौ धन की ही उत्पत्ति होगी। उन्होंने स्पष्ट रुप से कहा पुर्व के जमाने मे जन सहयोग से सार्वजनिक आवश्यक्ता की हर व्यवस्था सुदृढ और मजबूत थी लेकिन जब से हम अपनी जिम्मेदारी से विमुख हो सिर्फ सरकार के भरोसे की व्यवस्था पर निर्भर हुए उसकी सफलता का परिणाम प्रभावित हुआ है।उन्होंने कहा की सरकार और समाज के सहयोग से किए गए कार्यों मे सफलता का प्रतिशत बढ जाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *