ADS (6)
ADS (5)
ADS (4)
ADS (3)
ADS (2)
previous arrow
next arrow
 
ADS (6)
ADS (5)
ADS (4)
ADS (3)
ADS (2)
previous arrow
next arrow
Shadow

कोर्ट से अनिल देशमुख को झटका, याचिका हुई खारिज

अनिल देशमुख ने निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे (Sachin Vaze) से हर महीने 100 करोड़ रुपये वसूलने को कहा।

anil deshmukh

मुंबई: बॉम्बे हाई कोर्ट ने महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) की याचिका को भ्रष्टाचार के मामले में सीबीआई (CBI) की एफआईआर को चुनौती दी। उच्च न्यायालय ने अनिल देशमुख को निर्देश दिया है कि यदि आवश्यक हो तो उनके मामले की तात्कालिकता के आधार पर उच्च न्यायालय (HC) की अवकाश पीठ को स्थानांतरित किया जाए।

बॉम्बे हाईकोर्ट ने भ्रष्टाचार के मामले में सीबीआई की एफआईआर को चुनौती देने वाली महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख की याचिका को स्थगित कर दिया। उच्च न्यायालय ने सीबीआई से देशमुख की याचिका पर 4 सप्ताह में जवाब दाखिल करने को कहा है। मामले में अगली सुनवाई अदालत की गर्मियों की छुट्टी के बाद होगी।

आपको बता दें कि मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Param Bir Singh) ने करीब डेढ़ महीने पहले राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को लिखे एक पत्र में आरोप लगाया था कि अनिल देशमुख ने निलंबित पुलिस अधिकारी सचिन वाजे (Sachin Vaze) से हर महीने 100 करोड़ रुपये वसूलने को कहा।

अनिल देशमुख ने आरोपों से इनकार किया। लेकिन बॉम्बे हाईकोर्ट ने सीबीआई (CBI) जांच के आदेश के बाद देशमुख को पद से इस्तीफा देना पड़ा। वह फिलहाल सीबीआई जांच का सामना कर रहे हैं। पूरा मामला उद्योगपति मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) के घर के बाहर मिली विस्फोटक कार से शुरू हुआ। मामले में मुंबई पुलिस के एपीआई सचिन वाज़े का नाम सामने आने के बाद विवाद बढ़ गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *