Sat. Feb 24th, 2024

प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होंगे आलिया-रणबीर, मिला न्योता, सामने आई तस्वीरे 

Alia-Ranbir will also attend Pran Pratistha

अयोध्या में बन रहे राम मंदिर में 22 जनवरी को रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का अब दो हफ्ते से भी कम समय बचा है। प्राण प्रतिष्ठा में हिस्सा लेने के लिए प्रतिष्ठित लोगों को आमंत्रित किया जा रहा है। इस कड़ी में बॉलीवुड अभिनेता रणबीर कपूर और अभिनेत्री आलिया भट्ट को भी रामलला की प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होने का न्योता मिला है। विश्व हिंदू परिषद के लोग रणबीर कपूर के आवास पर पहुंचे और उन्हें रामलला की प्राण प्रतिष्ठा में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है।

इस शुभ मौके के लिए कई सारे एक्टर्स, बिजनेसमैन और राजनेताओं सहित तमाम हस्तियों को आमंत्रित किया गया है। राजनीकांत से लेकर प्रभास कई ऐसी नामचीन हस्तियां हैं, जिनका नाम इनविटेशन लिस्ट में शामिल है। वहीं अब कंगना को भी इनवाइट किया गया है। इसे बारे में कंगना ने खुद बताते हुए स्टोरी शेयर की है और इनविटेशन कार्ड की झलक भी दिखाई है।

एक्ट्रेस ने अपनी इंस्टा पर वीडियो स्टोरी शेयर करते हुए बताया कि फाइनली उन्हें राम मंदिर की प्राण- प्रतिष्ठा के लिए न्यौता मिला है। इसकी झलक शेयर करते हुए कंगना ने ‘राम सिया राम’ गाना भी लगाया। आमंत्रण पत्र की झलक काफी शानदार लग रही है। कई पन्नों में छपे पत्र के पहले पन्ने पर भगवान राम का चित्र साफ सुशोभित हो रहा है।

कैसी होगी रामलला की मूर्ति

रामनगरी अयोध्या में 22 जनवरी को होने वाले प्राण प्रतिष्ठा समारोह की तैयारियां जोरों पर हैं, और अयोध्या के लोग अपने आराध्य को लेकर उत्साहित हैं। पूरी अयोध्या को विशेष रूप से सजाया जा रहा है, और रामलला की मूर्ति तैयार हो गई है। श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने मूर्ति के स्वरूप का खुलासा करते हुए कहा है कि जो मूर्ति श्री राम जन्मभूमि मंदिर के गर्भ गृह में स्थापित होगी, वह श्यामल रंग की होगी।

रामचरितमानस और बाल्मीकि रामायण में वर्णित राम के स्वरूप को ध्यान में रखते हुए राम मंदिर ट्रस्ट ने यह निर्णय लिया। कर्नाटक के पत्तों से बनी दो श्यामल पत्थरों में से एक मूर्ति श्री राम के गर्भ गृह मंदिर में स्थापित होगी और बाकी दोनों अलग-अलग स्थलों पर स्थापित की जाएगी। राम मंदिर ट्रस्ट के महासचिव ने मूर्ति को विस्तार से वर्णन किया, कहते हुए, ‘इस मूर्ति में देवत्व यानि भगवान का अवतार है, विष्णु का अवतार है। यह एक राजा का बेटा होने के साथ-साथ राज पुत्र और देवत्व का संगम है।’

मूर्ति का विस्तार से वर्णन करते हुए चंपत राय ने कहा, ‘यदि हम पैर की उंगली से लेकर आंख की भौत तक देखें, तो यह मूर्ति चार फीट, 3 इंच की प्रतिमा है, लगभग 51 इंच ऊँची है। इसमें थोड़ा मस्तक, मुकुट, और आभामंडल शामिल हैं।’ चंपत राय ने बताया कि पूजा विधि 16 जनवरी से शुरू होगी, और मूर्ति गर्भ गृह में 18 तारीख को स्थापित की जाएगी। मूर्ति का शरीर लगभग डेढ़ टन का है और यह एकदम पत्थर से बनी है, श्यामल रंग की।

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *