प्रो. माथुर के इस्तीफा के बाद प्रो. केके गुप्ता ने जिम्मेदारी संभाली

प्रो. माथुर के इस्तीफा के बाद प्रो. केके गुप्ता ने जिम्मेदारी संभाली

Epaper Vashishtha Vani

वाराणसी: उत्तर प्रदेश के सबसे अस्पतालों में से एक वाराणसी के बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल के मेडिकल सुपरिटेंडेंट प्रोफेसर एसके माथुर (Professor SK Mathur) ने गुरुवार के अपने पद से इस्तीफा दे दिया. पूर्वांचल का एम्स कहे जाने वाले इस अस्पताल में कोविड प्रबंधन को लेकर लगातार शिकायतें आ रही थीं और किरकिरी हो रही थी. प्रो. एसके माथुर काफी दबाबाव में थे.

सूत्रों की माने तो प्रो. माथुर से बीएचयू के कोविड अस्पताल का कार्यभार नहीं संभल पा रहा था. उन्होंने लागतार लापरवाही सामने आने के बाद इस्तीफा दिया. अब इस पद की जिम्मेदारी मेडिसिन विभाग के प्रोफेसर कैलाश कुमार गुप्ता (Professor Kailash Kumar Gupta) को दी गई है. हालांकि प्रोफेसर कैलाश कुमार गुप्ता भी बीते दिनों कई चीजों को लेकर नाराजगी के चलते डिप्टी एमएस और कोविड वार्ड इंचार्ज के पद से इस्तीफा दे चुके थे.

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने भी शासन से की थी शिकायत

अब उनको बीएचयू के सर सुंदरलाल अस्पताल के चिकित्सा अधीक्षक के पद की नई जिम्मेदारी सौंपी गई है. कुलपति ने इस संबंध में नोटिफिकेशन जारी कर दिया है. वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा (DM Kaushal Raj Sharma) ने भी बीएचयू में हो रही लापरवाहियों पर शासन को 3 दिन पहले ही खत लिखा था.

इस बीच एक अच्छी खबर आई है कि बीएचयू में बन रहा 750 बेड का अस्थायी कोविड अस्पताल अगले सप्ताह से शुरू हो सकता है. आईसीयू में बेड, वेंटिलेटर लग गए हैं, जबकि अन्य तैयारियां तेजी से चल रही हैं. गुरुवार को भी स्वास्थ्य विभाग की टीम ने अस्पताल का दौरा किया. यह अस्थायी अस्पताल डीआरडीओ की मदद से तैयार किया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *