ADS (6)
ADS (5)
ADS (4)
ADS (3)
ADS (2)
previous arrow
next arrow
 
ADS (6)
ADS (5)
ADS (4)
ADS (3)
ADS (2)
previous arrow
next arrow
Shadow

नहीं थम रहा है Adani Electricity का Attack

Adani Electricity
Book ADS Vashishtha Vani

मुम्बई / वशिष्ठ वाणी: पूरे दुनिया में कोरोना महामारी के जहा पर आम आदमी आर्थिक स्थिति से जूझ रहा है वही पर कॉरपोरेट जगत में लोग पैसा बनाने से पीछे नही हट रहे, हम बात कर रहे मुम्बई में अडानी इलेक्ट्रिसिटी (Adani Electricity) के द्वारा मनमानी की, उनके द्वारा मीटर निकालने सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है, हमारे द्वारा कुछ दिनों पहले एक वीडियो जारी करके जब यह बताया गया कि अडानी इलेक्ट्रिसिटी द्वारा बिना नोटिस दिए लोगो का बिजली मीटर निकाल कर राशि वसूला जा रहा है तो अडानी ने नोटिस भेजना चालू कर दिया, अब आप यकीन नही करेंगे कि जिन लोगों ने लाइट बिल भरा है, और उनका अगले महीने लाइट बिल 2 हजार रुपए भी आये हैं तो उन्हें भी अडानी एलक्ट्रिसिटी द्वारा नोटिस भेजी गई है, और अभी तो उनके द्वारा यह हद कर दी गई है कि जो भी ऑनलाइन आप लाइट बिल भरना चाहते है वह आपकी पूरा राशि भरना होगा, जैसे आपका लाइट बिल 5 हजार रुपये आया है और आपके पास 2 हजार रुपये ही है तो आप वह पेमेंट नही भर सकते, क्योंकि अडानी द्वारा राशि को लॉक कर दिया अब आपको पूरा राशि ही भरना होगा अगर आप लाइट बिल भरने में सक्षम नही है तो आपके लाइट मीटर को निकालने से उन्हें कोई नही रोक सकता है।

Adani Electricity

अब आपके परिवार या आपके घर छोटा बच्चा अंधेरे में रहे उससे न अडानी को कुछ लेना देना और न हमारे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) को, क्योंकि जो भी सरकार सत्ता में आती है वह सरकार इनके सिस्टम के हिसाब से ही चलती हैं। कहते हैं कि मोदी है तो मुम्किन है और उनके द्वारा बहुत कड़े कदम उठाए भी गए है, जिसकी हम सराहना करते हैं, पर जब भी आम आदमी की बात आती हैं तो हमारे प्रधानमंत्री मोदी को क्या हो जाता है यह समझना मुश्किल है, मैंने जब भी आम आदमी के मुद्दे को लेकर प्रधानमंत्री मोदी को यह सूचित किया हूं कि लॉक डाउन हटते ही लोगो को आपका साथ चाहिए पर उनके तरफ से न कभी रिप्लाई आया और न उस विषय पर कोई ध्यान दिया गया। अब ऐसा होने पर पर हम क्या बोलेंगे की लोगो की तरह यह सरकार भी सिर्फ सत्ता के लिए ही आई है।

Reliance Electricity और Adani Electricity में अंतर

मुम्बई में जब रिलायंस पावर के तरफ से लोगो बिजली प्राप्त होती तब कोई अगर लाइट बिल नही भर पाता तो रिलायंस पावर पहले उनके घर पर नोटिस भेज कर उन्हें लाइट बिल भरने के लिए आग्रह करती थी, नोटिस के बाद भी अगर किसी ने लाइट बिल नही भरा तो वह कुछ दिनों तक मीटर से उसका कट कर देती थी पर मीटर नही निकालती थी, मीटर वह तभी निकालती जब लाइट बिल का राशि ज्यादा हो जाता या समय की अवधि खत्म हो जाती थी।

पर जब से अडानी के हाथों में यह कार्य आया है तब सब कुछ अलग है, वह सबसे पहले मीटर निकालती उसके बाद नोटिस देती हैं।

रिलायंस पावर और अडानी पावर के एक चीज समान है दोनो लाइट बिल मनचाहा भेजते हैं। जिनको जानकारी होती वह शिकायत करके अपना लाइट बिल सही करवा कर अपना राशि कम करवा लेता था और जिनको जानकारी नही उसे पूरा राशि भरना ही पड़ता था।

हम सिर्फ इस समाचार के माध्यम से यही कहना चाहते है कि इस बुरे वक्त में आप लोगो का साथ दे उन्हें समय दे थोड़ा थोड़ा राशि भरने में सहयोग करे नाकि परेशान, हल्की इस समाचार का आप जैसे लोगो पर कोई फर्क नही पड़ेगा, क्योंकि जहा तक मुझे ज्ञात है यह विषय सिर्फ हमारे न्यूज़ के माध्यम से उठाया जा रहा है और कोई भी न्यूज़ चैनल व न्यूज़पेपर इस विषय को नही उठा रहे हैं और न कोई विपक्षी नेता।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *