अवैध तरीके से तस्करी करने वाले 5 तस्कर गिरफ्तार

अवैध तरीके से तस्करी करने वाले 5 तस्कर गिरफ्तार

रिपोर्टर: कमलेश गुप्ता

वाराणसी/रोहनिया: एसटीएफ, उ0प्र0 की फील्ड इकाई, वाराणसी को अवैध तरीके से तस्करी कर पूर्वाेत्तर राज्यों में भेजी जाने वाले 01 करोड़ रूपये की फेन्साडिल सिरप (50700 शीशी) जनपद वाराणसी के थाना रोहनिया क्षेत्रान्तर्गत भुल्लनपुर स्थित गोदाम से ट्रक सहित बरामद करते हुये तस्कर गिरोह के 05 सदस्यों को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त हुई।

विगत काफी समय से सूचना प्राप्त हो रही थी कि अन्तप्र्रान्तीय गिरोहों द्वारा उत्तर प्रदेश के विभिन्न जनपदों से मादक पदार्थों एवं दवाओं का अवैध तरीके से तस्करी कर पूर्वाेत्तर राज्यों में भेजा जा रहा है, जहाॅं इन दवाओं का उपयोग नशा करने के लिये किया जा रहा है। इस सम्बन्ध आवश्यक कार्यवाही हेतु निर्देश दिये गये थे। उक्त निर्देश के क्रम में एसटीएफ फील्ड इकाई वाराणसी द्वारा अभिसूचना संकलन की कार्यवाही की जा रही थी।

अभिसूचना संकलन के दौरान पता चला था कि एक गिरोह द्वारा जनपद वाराणसी के थाना रोहनिया क्षेत्रान्तर्गत भुल्लनपुर में कहीं पर गोदाम बनाकर फेन्साडिल सिरप को अवैध रूप से लाकर रखा जाता है और उसके बाद उसे पूर्वोत्तर राज्यों एवं अन्य जगहों पर तस्करी के माध्यम से भेजा जाता है। उक्त अभिसूचना पर एसटीएफ फील्ड इकाई वाराणसी की एक टीम निरीक्षक अनिल सिंह के नेतृत्व में औषधि निरीक्षकगण को साथ लेकर धरातलीय सत्यापन कर रही कि विश्वस्त सूत्रों द्वारा बताया गया कि थाना रोहनिया क्षेत्रान्तर्गत भुल्लनपुर स्थित प्रदीप जायसवाल के मकान में भारी मात्रा में अवैध रूप से फेन्साडिल सिरप तस्करी के लिये रखा गया है और इसे एक ट्रक में लोड किया जा रहा है, जो पूर्वाेत्तर राज्यो में भेजा जायेगा, यदि शीघ्रता की जाये तो पकडा जा सकता है।

इस सूचना पर विश्वास कर उक्त टीम द्वारा विश्वस्त सूत्रों द्वारा बताये गये स्थान पर पहॅुचकर घेराबन्दी की गयी तो पाया गया कि प्रदीप जायसवाल के मकान में अवैध रूप से रखे गये औषधियों के बीच से फेन्साडिल सिरप के पैकेटों को ट्रक में तस्करों द्वारा लोड किया जा रहा था। मौके से उपरोक्त अभियुक्तगण की गिरफ्तारी करते हुये उक्त बरामदगी की गयी।


गिरफ्तार अभियुक्तगण से विस्तृत पूछताछ किये जाने पर बताया गया कि फेन्साडिल सिरप कफ सिरप के रूप में उपयोग किया जाता है। फेन्साडिल में कोडिन नामक केमिकल पाया जाता है, जिसे एक साथ अधिक मात्रा में लेने पर नशा होता है। बिहार, प0बंगाल एवं पूर्वाेत्तर राज्यों में नशा करने वाले लोग इसका प्रयोग नशीले पदार्थ के रूप में करते हैं और यह सिरप वहाॅं पर ऊॅचे दामों पर बिकता।

फेन्साडिल सिरप को मेसर्स उमा मेडिकल हाल पता एन-12/340-एस-डब्लू भारतपुरम काॅलोनी देवपोखरी बजरडीहा, थाना भेलूपुर, जनपद वाराणसी के नाम पर सचिन मेडिकोज फार्मास्यूटिकल बजोरिया रोड प्रथम तल थाना जनकपुरी निकट तारावती हास्पिटल जनपद सहारनपुर से मंगाया गया था। इसके अतिरिक्त फेन्साडिल सिरप को अन्य जनपदों से भी तस्करी के माध्यम से लाकर प्रदीप जायसवाल के मकान में रखते थे। बरामद फेन्साडिल सिरप को लोड किया जा रहा था कि पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया।


अभियुक्त वीरेन्द्र पासवान द्वारा पूछताछ में यह भी बताया कि मतलूब अहमद खान द्वारा मिर्जापुर जनपद से 25 टन चावल का बिल्टी बनवाकर 23 टन चावल लोडकर भुल्लनपुर गोदाम पर बुलवाया गया था। उक्त फेन्साडिल सिरप को चावल की बोरियों के बीच में छुपाकर गुवहाटी (आसाम) पहुचाना था। वहाॅं पहुचने के बाद मतलूब अहमद खान बताता कि इसे किसे देना है। इस फेन्साडिल सिरप को पहुॅचाने के लिये 40000/-रू0 प्रति चक्कर उसे अतिरिक्त मिलता है।


उक्त सन्दर्भ में गिरफ्तार अभियुक्तगण को थाना रोहनिया जनपद वाराणसी में दाखिल करके मु0अ0सं0 106/2021 धारा-8/21 एनडीपीएस एक्ट पंजीकृत कराया गया है। अग्रिम विधिक कार्यवाही स्थानीय पुलिस तथा खाद्य सुरक्षा एवं औषधि प्रशासन विभाग द्वारा की जा रही है।

अभियुक्तों ने अपना नाम सुनील पाण्डेय पुत्र रामकृष्ण पाण्डेय निवासी कुन्ती बिहार काॅलोनी, नई बस्ती पाण्डेयपुर, थाना लालपुर पाण्डेयपुर, जनपद वाराणसी, प्रदीप जायसवाल पुत्र प्रेमशंकर जायसवाल निवासी ईश्वरगंगी, थाना सारनाथ, जनपद वाराणसी, वीरेन्द्र पासवान उर्फ बबलू पुत्र बसन्त राम पासी, निवासी धर्मापुर, थाना गौरा बादशाहपुर, जनपद जौनपुर, सुनील कुमार सरोज पुत्र लालजी निवासी डीधिया, थाना बडागांव, किशन यादव पुत्र श्रीनाथ यादव निवासी अमुआरा, थाना सैदपुर, जनपद गाजीपुर।


अग्रिम विधिक कार्यवाही करते हुए पांचो अभियुक्तों को जेल भेज दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *