दिलदारनगर विद्युत उपकेंद्र से 16 गांव की बत्ती गुल

दिलदारनगर विद्युत उपकेंद्र से 16 गांव की बत्ती गुल

संवाददता प्रदीप दुबे

गाजीपुर

दिलदारनगर विद्युत उपकेंद्र के सामने सड़क और रेल पटरी के नीचे भूमिगत केबिल में बीते दोपहर फाल्ट आ गया। इससे 16 गांव की बत्ती गुल हो गई। तीसरे दिन भी केबिल का दुरुस्त कर आपूर्ति बहाल में नहीं की गई। इससे लोगों में परेशानियों के बीच पानी के लिए हाहाकार मचा रहा। हालांकि कर्मी मरम्मत कार्य में जुटे रहे।
मालूम हो कि बुधवार की दोपहर विद्युत उपकेंद्र के सामने सड़क और रेलवे पटरी के नीचे अंदर ग्राउंड केबिल जल गया। इससे दिलदारनगर, फुल्ली, जोगियामर, दौदही, कुशी, शाहपुर, भक्सी, धनौता सहित करीब 16 गांव की बत्ती गुल हो गई। इससे हजारों उपभोक्ताओं की परेशानी बढ़ गई है। लोगों ने सोचा कि शायद कही हल्का-फुल्का फाल्ट होगा, उसे दुरुस्त कर अब-तब आपूर्ति बहाल कर दी जाएगी, लेकिन तीसरे दिन शुक्रवार को भी लोगों को बिजली का दर्शन नहीं हुआ। लगातार तीन दिनों से बत्ती गुल रहने से गर्मी के इस मौसम में जहां लोग चैन की सोने परेशान रहे, वहीं पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है। लोग हैंडपंपों और कुआ से किसी तरह से थोड़ा-बहुत पानी की व्यवस्था को काम चलाने को विवश है। बिजली के अभाव में बैट्री चार्ज होने से तमाम लोगों के मोबाइल के साथ ही ईन्वटर्वर भी शो-पीस बन गए है। बिजली पर आधारित कारोबार पूरी तरह से ठप है। हालांकि दो दिनों से केबिल मरम्मत का काम चल रहा है। परेशान उपभोक्ताओं का कहना है कि विभाग फाल्ट को दुरुस्त कराने में लापरवाही बरत रहा है, जिसका खामियाजा उपभोक्ताओं को भुगतना पड़ रहा है। शुक्रवार की शाम 6 बजे तक बिजली आपूर्ति बहाल नहीं हो सकी थी और हजारों उपभोक्ता परेशान रहे। इस संबंध में जेई तापस कुमार ने बताया कि दो दिनों से केबिल मरम्मत का कार्य चल रहा है। प्रयास है कि जल्द से जल्द फाल्ट को दुरुस्त करा आपूर्ति बहाल करा दिया जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *