असहयोग आंदोलन के 100 वर्ष पूरे

असहयोग आंदोलन के 100 वर्ष पूरे

रिपोर्टर: राजकुमार गुप्ता / वाराणसी: राजघाट स्थित सर्व सेवा संघ के परिसर में दिनांक 16 फरवरी से 20 फरवरी तक उत्तर प्रदेश के विभिन्न जिलों से आये हुए युवाओं का शिविर सफलता पूर्वक आयोजित हुआ। इस आवासीय शिविर में 50 युवा और 25 से अधिक वक्ताओं के बीच संवाद हुआ। शिविर का आयोजन सर्व सेवा संघ के युवा मोर्चा के संयोजक बजरंग सोनावड़े और परिसर संयोजक राम धीरज जी के द्वारा किया गया।

शिविर में मुख्य रूप से प्रो. दीप्ति महाराष्ट्र, प्रो. डीएम दिवाकर ने बिहार से आ कर गांधी और वर्तमान अर्थव्यवस्था के सवाल पर चर्चा की, रामचन्द्र राही अध्यक्ष गांधी निधि दिल्ली और अमरनाथ भाई पूर्व अध्यक्ष सर्व सेवा संघ ने अध्यक्षता की, पुतुल जी, जागृति राही, प्रो. दीप्ति ने महिलाओं के सवाल पर चर्चा की। उन्नाव से राकेश रफीक और मुरादाबाद ने किसान आंदोलन पर चर्चा की। चंदन पाल अध्यक्ष सर्व सेवा संघ ने शिविर का उद्घाटन किया।

प्रो सतीश राय ने गांधी के विचार, नैतिकता और राजनीति, फादर आनंद ने सद्भावना पर, वल्लभ पांडेय ने पर्यावरण पर चर्चा की, रामजनम, धनन्जय त्रिपाठी, रवि, नन्दलाल, अनूप श्रमिक बनारस ने भी विचार रखे, देव कुमार कानपुर ने अंबेडकर और गांधी पर, शेर बहादुर, जौनपुर ने चर्चा की। महिला स्वास्थ्य पर हिमांशु आदि तमाम लोगों की उपस्थिति रही। कार्यक्रम के संचालन में विनोद, कमलेश, जागृति राही आदि की प्रमुख भूमिका रही।

शिविर में मुख्य रूप से गांधी जी के सिद्धांतों विचारों और आजादी की लड़ाई के विभिन्न चरणों पर चर्चा की गई। सर्व सेवा संघ परिसर में ऐसे शिविर हर माह पूरे वर्ष भर आयोजित किये जाने है। असहयोग आंदोलन के 100वे वर्ष में स्वतंत्रता आंदोलन के नेताओ गांधी, विनोबा जेपी, नेहरु, भगत सिंह, अंबेडकर आदि हमारे देश के महान नेताओं के विचारों को जानने और भागीदारी के इच्छुक युवा राजघाट सम्पर्क कर सकते हैं। अप्रैल के 11 से 13 महिला शांति सेना शिविर आयोजित होगा।अंत में शिविरार्थी को पुस्तकें और सर्टिफिकेट भी दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *